प्रकाशनार्थ: लॉक डाउन के मद्देनजर आज TET शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति की एक ऑन लाइन बैठक व्हाट्सप के माध्यम से की गई ।


सर्वविदित है कि बिहार के सवा लाख TET शिक्षक 27 फरवरी से TET शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले हड़ताल पर है।बैठक के बाद समिति के अध्यक्ष एवं शिक्षक नेता अमरदीप डिसूज़ा ने प्रेस रिलीज जारी करते हुए कहा कि बिहार के सवा लाख TET शिक्षको की मांगे जायज है ।


हमारी बस बिहार सरकार से एक ही मांग है कि बिहार सरकार माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिये गये न्यायनिर्णय के पाराग्राफ-78 को लागू करते हुए सवा लाख TET शिक्षको को एक्सपर्ट टीचर माने एवं अन्यो राज्यो में जिस प्रकार TET शिक्षको को पूर्ण वेतनमान एवं सहायक शिक्षक का दर्जा प्रदान किया गया वही व्यवस्था बिहार में भी TET शिक्षकों के लिये शिक्षाहित मे लागू करें।

इसी मांग को पूरा कराने के लिये TET शिक्षकों ने 15 फरवरी को राज्यस्तरीय एकदिवसीय धरना गर्दनीबाग में ,3 मार्च को पटना के सड़को पर भिक्षाटन एवं 13 मार्च को सामूहिक मुण्डन कराते हुए जोरदार प्रदर्शन किया गया था किंतु लॉक डाउन के वजह से सारे आंदोलनात्मक कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है।


आज के बैठक में कोर कमेटी के निर्णय को बताते हुए अमरदीप डिसूज़ा ने कहा कि सर्वसहमति से निर्णय लिया गया है कि जब तक सरकार TET शिक्षकों के हित मे हमसे वार्ता नही करती है तब तक बिहार के सवा लाख TET शिक्षक हड़ताल पर बने रहेंगे।
कोर कमेटी के सदस्य नितेश कुमार ने बताया कि कोरोना जैसे विश्वव्यापी महामारी में हम मानवीय संवेदना में सरकार के साथ है लेकिन हड़ताल पर बने रहकर सेवा करेंगे।

बैठक में कोर कमेटी के सभी सदस्य अमरदीप डिसूज़ा,रजनीश रंजन,हिमांशु शेखर, रंजन गुप्ता,नितेश कुमार,उदय शंकर सिंह,अजय कुमार उपस्थित हुए।

अमरदीप डिसूज़ा (TET शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति-बिहार)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here