बिहार में मंगलवार को कोराना के सात पॉजिटिव मरीज मिले हैं। एक दिन में सर्वाधिक सात संक्रमण की पुष्टि से प्रशासनिक महकमा और चिंतित हो गया है। मंगलवार को जिन सात लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, उनमें चार सिवान जिले के हैं।

इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (आइजीआइएमएस) में सिवान से आए 33 सैंपल में से चार की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। वहीं अगमकुआं स्थित राजेंद्र स्मारक चिकित्सा विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आरएमआरआइ) में गोपालगंज, बेगूसराय और गया के तीन युवकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि बिहार में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 22 हो गई है।

राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने बताया कि सिवान के चारों युवक हाल ही में विदेश से आए थे। इनमें से एक अबूधाबी, एक मस्कट, एक शारजाह और एक बहरीन से आया था। दरौली व हसनपुरा के एक-एक और बड़हड़िया के दो युवकों की विदेश यात्र हिस्ट्री को देखते क्षेत्र को सील कर दिया गया है।

कोरोना अस्पताल एनएमसीएच के अधीक्षक डॉ. निर्मल कुमार सिन्हा ने बताया कि गोपालगंज निवासी 30 वर्षीय युवक को मंगलवार से संक्रामक रोग अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। जिला प्रशासन ने गांव के तीन किलोमीटर परिधि में आने वाले गांवों की सीमा का सील कर दिया है। इस परिधि में प्रखंड मुख्यालय का थावे बाजार भी है। युवक के स्वजनों तथा पास पड़ोस के 16 लोगों को एंबुलेंस से सदर अस्पताल लाकर जांच के बाद शहर के एसएस बालिका विद्यालय में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। युवक दुबई से 21 मार्च को दिल्ली पहुंचा था।

उधर, गया के एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पुलिस टीम ने उसके घर को सील कर दिया और परिवार के सभी छह सदस्यों को मेडिकल टीम की निगरानी में करा दिया गया है। गांव में सभी घरों को सैनिटाइज करने का प्रबंध शुरू कर दिया गया है। युवक मुंगेर के उसी नेशनल हॉस्पिटल में आइसीयू अटेंडेंट था, जिसमें मुंगेर के मरे संक्रमित युवक ने इलाज कराया था।

वहीं, बेगूसराय के जिस युवक में देर शाम कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई वह भी दुबई से लौटा है। बरौनी स्थित घर पर होम क्वारंटाइन है। जिलाधिकारी अर¨वद कुमार ने बताया कि बरौनी स्थित उसके घर के आसपास के इलाके को को सील किया जा रहा है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here