पटनाः कोरोना संक्रमण काल में भले ही बिहार समेत कई राज्यों में चुनाव और उप चुनाव संपन्न कराये गए हैं. लेकिन कोरोना के फिर से रफ्तार पकड़ने से लोगों की मुश्किल बढ़ती जा रही है. ऐसे में बिहार सरकार ने साफ किया है कि मार्च से बंद प्राथमिक और मध्य स्कूलों को खोलने को लेकर अभी कोई जल्दबाजी नहीं है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी का कहना है कि पढ़ाई के लिए हम बच्चों की जिंदगी खतरे में नहीं डाल सकते हैं. स्कूल खोलने का निर्णय जल्दबाजी में नहीं लिया जाएगा. राज्य के 50 हजार से अधिक प्राथमिक स्कूल फिलहाल बंद हैं. शिक्षा मंत्री के मुताबिक संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है इसलिए खतरा मोल नहीं ले सकते.

ये भी पढ़ेंः बिहार में बीजेपी विधायक से अपराधियों ने मांगी 25 लाख की रंगदारी, नहीं देने पर दी यह धमकी

1221 लोगों की कोरोना से मौत

बता दें कि बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या 2,30,632 पहुंच गई है. वहीं, अब तक 1,221 लोगों की मौत भी हो चुकी है. हालांकि, राहत की बात यह है कि 2,24,221 मरीज स्वस्थ भी हो चुके हैं. फिलहाल बिहार में 5190 एक्टिव केस हैं.

ये भी पढ़ेंः कोरोना से जेडीयू के बड़े नेता की मौ’त से सीएम दुखी, नीतीश कुमार ने परिजनों को भेजा खास संदेश

बता दें कि दिल्ली और अन्य राज्यों में कोरोना ने रफ्तार पकड़ी है. जिसे देखते हुए बिहार सरकार कोई ढिलाई देने के मूड में नहीं है. पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना से पीड़ित पांच और मरीजों की मौत हुई है. शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी का कहना है कि इस मामले में बहुत सोच विचार कर स्कूल खोलने पर फैसला करेंगे.

Get Today’s City News Updates

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here