ठीक ही कहा गया है कि पैसा और संपत्ति की लालच अच्छे-अच्छे को अंधा बना देता है और हर रिश्ते ना तो को भुला देता है। इसी वाक्य से मिलती जुलती है घटना बिहार के नालंदा जिले में देखने को मिली। जहां अपने ही पिता और बहन ने मिलकर भाई समेत उसकी बीवी और दो बच्चे को बड़ी ही बेरहमी से मार डाला। यह निर्मम घटना परिवार और समाज में हो रहे बदलाव पर काला धब्बा है।

मामला नालंदा जिले के दीपनगर थानाक्षेत्र के सर्वोदय नगर मोहल्ले का है। जहां एक ही परिवार के चार लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई। जानकारी के अनुसार यह हत्या पिता राजेंद्र पासवान और उनकी बेटी ने मिलकर अपने ही बेटे रवि कुमार , अपनी बहू नेहा कुमारी, पोती जैनी कुमारी और पोता आहान कुमार की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी। हत्या के बाद दोनों ने मिलकर चारों शवों को एक कमरे में बंद कर दिया और घर में ताला लगाकर फरार हो गए।

नेहा कुमारी मध्य विद्यालय परवलपुर में शिक्षिका के पद पर कार्यरत थी, जबकि रवि कुमार किराना की दुकान चलाता था. मामला जायदाद विवाद का बताया जा रहा है। दरअसल राजेंद्र पासवान अपनी पूरी जायदाद अपनी बेटी के नाम करना चाहते थे, जबकि रवि कुमार को इस बात से आपत्ति थी। आए दिन इस मुद्दे पर बहस हो जाती थी। मगर आखिरकार रवि और उनके परिवार को उनके पिता और बहन के सहयोगियों ने मिलकर मार डाला और मौका ए वारदात से फरार हो गए।

पुलिस फरार आरोपियों की खोज में जुटी है. एफएसएल टीम को जांच के बुलाया गया है. एफएसएल की टीम पटना से नालंदा के लिए रवाना हो गई है. घटनास्थल से कोई धारदार हथियार बरामद नहीं हुआ है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here