देश की मौजूदा स्तिथि को देखते हुए राजधानी दिल्ली में सो’मवार को तमाम विपक्षी पार्टियों ने सीएए-एनआरसी समेत देश के हालातों पर चर्चा के लिए एक बैठक की। इस बैठक के बाद कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज युवाओं की जो आवाज उठ रही है उसे लेकर सरकार को सोचना चाहिए और युवाओं को रोजगार कैसे मिलेगा और अर्थव्यवस्था किस तरह से वापस पटरी पर आएगी इस पर सरकार को काम करना चाहिए।

साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि देश के युवाओं में गु’स्सा और ड’र है क्योंकि आर्थिक हालात ख’राब हैं। सरकार रास्ता दिखाने में फेल है इसलिए युवा और किसान तथा विश्वविद्यालय में गु’स्सा बढ़ रहा है जिससे ध्यान बांटने की कोशिश कर रहे हैं पीएम नरेंद्र मोदी। युवाओं की आवाज़ को द’बाया नहीं जाना चाहिए।

इतना ही नहीं राहुल ने सरकार पर आ’रोप लगाते हुए कहा कि सरकार देश को बां’टकर लोगों का ध्यान भ’टकाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार मुद्दों का जवाब देने से क’तरा रही है। देश की जनता समझती है कि अब मोदी जी अर्थव्यवस्था पर, रोजगार पर फे’ल हो रहे है।

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनमें हि’म्मत है तो वह बिना पुलिस के किसी भी विश्वविद्यालय में जाकर दिखाएं। प्रधानमंत्री देश के विश्वविद्यालयों में जाएं और युवाओं को बताएं कि वह देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने और युवाओं की नौकरियां बढ़ाने के लिए क्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो अवसर भारत के पास था उसे हमने खो दिया है, ये पीएम द्वारा किया गया है, प्रधानमंत्री देश को बां’टने का काम कर रहे हैं।

अंत में राहुल गाँधी बोले प्रधानमंत्री को साहस के साथ खड़े होकर बेरोजगारी और छात्रों के मामले पर बोलना चाहिए लेकिन वह पुलिस की मदद से उनकी आवाज़ों को द’बा रहे हैं। जिसका परिणाम भविष्य में भ’यानक होगा।

सोर्स- न्यूज़ 18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here