बिहार के सृजन घो’टाले मामले में सीबीआई ने बड़ी का’र्यवाई की है। 1600 करोड़ के सृजन घो’टाले मामले में सीबीआई की कार्य’वाई से प्रशासनिक अमले की नींद उ’ड़ गयी है। इस मामले में सीबीआई ने आईएएस अफसर वीरेंद्र यादव समेत 10 अन्य लोगों पर भी चार्ज’शीट दा’खिल की है। मिली जानकारी के अनुसार, बिहार में मुख्य रूप से भागलपुर से जुड़े इस 1600 करोड़ के बहुचर्चित सृजन घो’टाले मामले में सीबीआई दिल्ली की टीम ने आरो’पियों के खि’लाफ लगातार चार्ज’शीट फ़ाइल कर रही है।

इन सभी दस नामों में सबसे चौकाने’वाला नाम आईएएस अधिकारी और भागलपुर के पूर्व जिलाधिकारी वीरेन्द्र यादव का है। आईएएस वीरेंद्र यादव फिलहाल पिछड़ा वर्ग और अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग में विशेष सचिव के पद पर तैनात हैं। इससे पहले वीरेंद्र यादव भागलपुर जिले में जिलाधिकारी के पद पर तैनात रह चुके हैं। सूत्रों के अनुसार आईएएस अधिकारी पर करीब 12 करोड़ रुपये की जबाब’देही तय की गई है।

वीरेंद्र यादव के अलावा महिला सृजन विकास समिति की चेयरमैन स्वर्गीय मनोरमा देवी, उसके बेटे अमित कुमार और बहू रजनी प्रिया पर भी चार्जशीट फ़ाइल की गई है। साथ ही कई बैंकों के अधिकारियों पर गा’ज गि’र चुकी है। सीबीआई द्वारा दा’खिल यह चार्जशीट काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। इस घोटा’ले का नाम ‘सृजन घोटा’ला’ इसलिये पड़ा था क्योंकि सरकारी विभागों की रकम सीधे विभागीय ख़ातों में न जाक’र या वहां से ‘सृजन महिला विकास सहयोग समिति’ नाम के एनजीओ के ख़ातों में ट्रांसफ़र कर दी जाती थी।

जिसके बाद जिला प्रशासन और बैंक अधिकारियों की मिली भ’गत से सरकारी पैसे की हेरा-फेरी करते थे। इस घोटाले में पहले ही कई बैंको के अधिकारी को सीबीआई ने अपनी गिर’फ्त में ले लिया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here