पटना: बिहार में कोरो’ना सं’क्रमण को रो’कने के लिए पुलिस ने स’ख्त रुख अपनाया हुआ है . बेवजह जो भी सड़को पर घूम रहा है, पुलिस उसकी जमकर पि’टाई कर रही है. ताजा मामला पटना का है जहाँ पुलिस ने भाजपा के नेता की पि’टाई कर दी . घटना रविवार की सुबह आर ब्लॉक की है और पुलिसिया ज्यादती के शि’कार हुए प्रदेश मीडिया प्रभारी राकेश कुमार सिंह।

मिली जानकारी के अनुसार, राकेश सिंह ने कहा कि रविवार की सुबह वे आटा लाने को घर से निकले। पुलिस ने आर ब्लॉक पर देखा तो रुककर पूछताछ शुरू की। सब सामान्य था लेकिन जैसे ही भाजपा का नेता बताया तो पि’टाई शुरू कर दी। राकेश ने आरो’प लगाया कि कोतवाली का दारोगा और जिप्सी पर बैठे जवानों ने ताब’ड़’तोड़ लाठियां च’लाई जिससे उनके अंगूठे, पैर और कमर में काफी चो’टें आई है। 

जिसके बाद भाजपा नेताओं ने घटना की निं’दा की है। संगठन महामंत्री नागेंद्र ने राकेश सिंह से बात कर घटनाक्रम की पूरी जानकारी ली। इस बाबत उन्होंने सरकार तक पूरे मामले की जानकारी देने का भरोसा दिया। प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल और निखिल आनंद, कार्यालय मंत्री सत्यपाल नरोत्तम, मीडिया प्रभारी अशोक भट्ट के अलावा पंकज सिंह और राजीव रंजन ने इस घटना की निंदा की। 

नेताओं ने कहा कि भाजपा के मीडिया प्रभारी राकेश सिंह के साथ कोतवाली पुलिस द्वारा मा’र’पी’ट तथा अभद्र भाषा का प्रयोग करना काफी दु’खद है। डीजीपी से मांग किया कि ऐसे पुलिस वालों पर स’ख्त करवाई होनी चाहिये।

राकेश सिंह एक सरल स्वभाव के व्यक्ति हैं। कोतवाली पुलिस ने जो अमानवीय व्यवहार उनके साथ किया है वह घोर निं’दनीय है। प्रशासन ने ही यह नियम बनाया है कि सुबह 6:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक खाद्य पदार्थ की दुकानें खुली रहेगी और आप आवश्यकता के अनुसार पदार्थों को खरीद सकते हैं तो फिर किस कानून के तहत पुलिस ने पि’टाई की। राकेश सिंह की पिटाई के बाद बिहार की राजनीति एक बार फिर गर’मा गई है.

सोर्स-livehindustan.com

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here