NRC:नागरिकता संशोधन कानून के वि’रोध में पुरे देशभर में आं’दोलन हो रहे है। इसी बीच एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, केरल के एक व्यक्ति ने सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नागरिकता के बारे में जानने के लिए केरल के सूचना विभाग में एक आरटीआई दाखिल करके पूछा है। व्यक्ति यह जानना चाहता है कि प्रधानमंत्री भारतीय नागरिक हैं या नहीं।

मिली जानकारी के अनुसार, RTI दायर करने वाले का नाम जोश कल्लूवीत्तिल है। वह त्रिशूर जिले के चालक्कुडी शहर का निवासी है। उससे इस संबंध में 13 जनवरी को आवेदन किया था। कल्लूवीत्तिल ने अपने आवेदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नागरिकता साबित करने वाले दस्तावेज मांगे हैं। आवेदन को चालक्कुडी नगरपालिका के सार्वजनिक सूचना अधिकारी के समक्ष दायर किया गया है।

Loading...

आपको बता दे कि आरटीआई की धारा सात के तहत 30 दिनों के अंदर सूचना दिए जाने का प्रावधान है। यदि सूचना किसी व्यक्ति के जीवन या स्वतंत्रता से संबधित है तो ऐसी सूचना को 48 घंटे के अंदर दिए जाने का नियम है। साथ ही कानून की धारा 20 के अनुसार निर्धारित समयसीमा में सूचना न देने वाले अधिकारी पर रोजाना 250 रुपये का जुर्माना लगाया जाता है। ऐसे में चालक्कुडी नगरपालिका को महज 48 घंटो के भीतर अपना जवाब देना होगा। अगर उन्होंने जवाब नहीं दिया तो उन्हें रोजाना फाइन देना होगा।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here